राष्ट्रीय

वेल्लोर के CMC में जूनियर छात्रों रैगिंग का वीडियो सामने आया, कपड़े उतरवाकर हुई रैगिंग


चेन्‍नई. वेल्लोर के क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज (CMC) में जूनियर छात्रों की रैगिंग का चौंकाने वाला वीडियो सामने आया है. रैगिंग का पहला वीडियो Reddit पर एक छात्र द्वारा पोस्ट किया गया था. इस वीडियो में रैगिंग की भयावह घटनाएं देखी जा सकती हैं जो फ्रेशर्स को सहनी पड़ रही हैं.

रेडिट पोस्ट में एक वीडियो था जो 09 अक्टूबर का है. वीडियो में दिख रहा है कि कैसे फ्रेशर्स ने अपने अंडरवियर में दौड़ लगा रहे हैं. उन पर फायर हाइड्रेंट से पानी डाला जा रहा है, साथी छात्रों और जमीन आदि के साथ यौन कृत्यों की नकल कराई जा रही है. वीडियो में यह भी दिख रहा है कि सीनियर छात्र जूनियर छात्रों के प्राइवेट पार्ट्स पर मार रहे हैं.

हॉस्‍टल में हुई प्रतियोगिता

वीडियो को रेडिट पोस्ट पर डालने के बाद हटा लिया गया. दावा किया जा रहा है कि कॉलेज में 09 अक्टूबर को “जूनियर मिस्टर मेन्स हॉस्टल” प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था. पोस्ट के मुताबिक फ्रेशर्स को अपने अंडरवियर में रहने पर मजबूर किया गया. इस कार्यक्रम में वार्डन, डिप्टी वार्डन और कुछ डॉक्टर भी मौजूद थे, जिन्होंने जज के रूप में काम किया.

इसके बाद, वार्डन और डॉक्टरों के चले जाने के बाद, जूनियर्स को कथित तौर पर अपने अंडरवियर में छात्रावास के चारों ओर घूमने के लिए मजबूर किया गया. छात्रों को विभिन्न प्रकार के उत्पीड़न सहने पड़े जो वीडियो में देखे जा सकते हैं.

भयावह स्‍तर तक हुई रैंगिग

जूनियर छात्रों के प्राइवेट पार्ट्स पर मारा गया, उन्‍हें हॉस्‍टल की सबसे ऊंचाई पर ले जाकर पैरों से उल्टा लटकाया गया. उनके कपड़े उतारे गए, थप्‍पड़ मारे गए और पीटा भी गया. डाइनिंग एरिया में भी छात्रों को एक निश्चित टेबल पर बैठने या जाने की अनुमति लेनी पड़ती थी. सभी फ्रेशर छात्रों को सीनियर्स का पूरा नाम, जिला और ईयर याद रखना जरूरी था, ऐसे न करने पर छात्र के साथ और रैंगिंग की जाती थी.

पोस्ट में यह भी कहा गया है कि मामूली कारणों से फ्रेशर्स को थप्पड़ मारे गए. जूनियर्स के लिए सीनियर्स के सामने कपड़े उतारना रोज का काम था और पूरी तरह से नग्न होकर जननांगों को केवल कार्डबोर्ड के एक टुकड़े से ढक दिया जाता था. रेडिट पोस्ट के वायरल होने के बाद कहा गया कि CMC के प्राचार्य को एक गुमनाम शिकायत मिली और एक समिति द्वारा प्रारंभिक जांच के बाद सात वरिष्ठ छात्रों को निलंबित कर दिया गया है.

विज्ञापन Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!